अयोध्या फैसले से बाद शरारती तत्वों एवं सोशल मीडिया पर होगी प्रशासन की पैनी नजरः डीसी

अयोध्या फैसले से बाद शरारती तत्वों एवं सोशल मीडिया पर होगी प्रशासन की पैनी नजरः डीसी

सामाजिक सौहादर्य बिगाड़ने के प्रयास पर होगी कानूनी कार्रवाईः एसपी

दुमका। समाहरणालय सभागार में डीसी राजेश्वरी बी ने अयोध्या राम जन्मभूमि विवाद पर सर्वोच्च न्यायालय द्वारा ऐतिहासिक फैसला का स्वागत करते हुए न्यायालय के न्यायादेश का सम्मान का अपील की है। उन्होंने कहा कि अगर किसी के भी द्वारा आने वाले दिनों में भी न्यायालय के फैसले के खिलाफ नारेबाजी की जाती है तो कोर्ट का अवमानना माना जायेगा। ऐसे लोगों के विरूद्ध नियमानुसार कानूनी कार्रवाई की जायेगी। उन्होंने कहा कि जिला के सभी प्रखंडों में बीडीओ, सीओ एवं सभी संबंधित थाना को इस संबंध में निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि पूरे जिले में विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए 144 लागू किया गया है। धारा 144 प्रभावी तरीके से पूरे जिले में लागू रहेगा। अगर आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन किसी के भी द्वारा किया गया तो विधिसम्मत कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने चुनाव संपन्न होने तक धारा 144 का अनुपालन सुनिश्चित करने का अपील की। उन्होंने कहा कि ऐसा कोई कार्य नहीं करें, जिससे आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन हो। उन्होंने समाज के नागरिकों से अपील किया है कि जिले में सौहार्दपूर्ण वातावरण बनाये रखने में अपना योगदान दें। किसी की भावना को ठेस नहीं पहुंचे, इसका ध्यान रखने की जरूरत बताया। अगर किसी भी असामाजिक तत्वों द्वारा किसी के भावना को ठेस पहुंचाने का कार्य एवं आपसी सौहार्द को बिगाड़ने का कार्य किया जाता है, तो ऐसे लोगों के विरुद्ध विधिसम्मत कठोर कानूनी कार्रवाई की चेतावनी दी। उन्होंने ऐसे संदेश जो किसी की भावनाओं को ठेस पहुंचाने एवं आपसी सौहार्द को बिगाड़ने का कार्य करता है तो ऐसे संदेश को संप्रेषित करने वाले की पूरी जानकारी जिला प्रशासन को देने की अपील की। ऐसे लोगों के विरुद्ध जिला प्रशासन कार्रवाई करेगा। डीसी ने बताया कि विभिन्न टीम पूरे जिले में वाहन चेकिंग अभियान चला चार पहिया एवं दोपहिया वाहनों की जांच की जा रही है। आने वाले दिनों में उक्त टीम द्वारा हर संदेहास्पद चीजों की भी जांच करने एवं जिले में विधि व्यवस्था बनी रहे सुनिश्चित करने का अपील किया। एसपी वाईएस रमेश ने लोगों से आपसी सौहार्द और भाईचारा बनाये रखने का अपील किया। उन्होंने कहा कि कई बार कुछ असामाजिक तत्व सौहार्दपूर्ण वातावरण को बिगाड़ने के उद्देश्य से गलत संदेश लोगों के बीच फैलाते हैं। ऐसे लोगों पर जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन की पैनी नजर है। न्यायालय के अवमानना की स्थिति में विधिसम्मत कारवाई की हिदायत दिया। उन्होंने कहा कि पुलिस प्रशासन विभिन्न सोशल मीडिया पर नजर रखी है। सभी प्रकार के व्हाट्सएप ग्रुप पर नज़र रखी जा रही है। उन्होंने कहा कि कोई भी ऐसा कमेंट नहीं करें, जिससे किसी की भावनाओं को ठेस पहुंचे। उन्होंने जिला प्रशासन को आवश्यक सहयोग देने का अपील करते हुए असामाजिक तत्वों के विरुद्ध कठोरतम कारवाई की चेतावनी दी।

Niraj Singh

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

झारखंड पुलिस को मिला गवर्नेंस नाउ डिजिटल ट्रांसफॉमेशन एवार्ड

Sat Nov 9 , 2019
झारखंड पुलिस को मिला गवर्नेंस नाउ डिजिटल ट्रांसफॉमेशन एवार्ड रांची। नई दिल्ली के होटल द […]

You May Like