सरकार श्रमिकों के निबंधन को पंचायत स्तर पर शिविर लगाये अधिकारीः मंत्री डॉ लुईस

सरकार श्रमिकों के निबंधन को पंचायत स्तर पर शिविर लगाये अधिकारीः मंत्री डॉ लुईस

मजदूरों के निबंधन होंगे गांधी जयंती दो अक्टूबर तक

दुमका। सदर प्रखंड में श्रम नियोजन एवं परीक्षण विभाग, दुमका द्वारा श्रमशक्ति अभियान का आयोजन मंगलवार को किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि समाज कल्याण मंत्री डा लुईस मरांडी ने कहा कि भवन एवं अन्य संनिर्माण मजदूरों के निबंधन के लिए पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती 25 सितंबर लेकर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती 2 अक्टूबर तक विशेष श्रमशक्ति अभियान चलाए जाने का निर्णय सरकार ली है। इस अवधि में प्रत्येक प्रखंड एवं शहरी क्षेत्रों में शिविर लगाया जायेगा। उन्होंने कहा कि श्रमिकों के कल्याण के लिए चल रही योजनाओं का लाभ उठाने के लिए निबंधन कराना आवश्यक है। यदि अब तक श्रमिकों का निबंधन नहीं कराया गया है, तो अपने जिला या प्रखंड के श्रम कार्यालय में उपलब्ध फॉर्म भर कर अपना निबंधन अवश्य कराने की अपील की। अभियान को सफल बनाने के लिए हर पंचायत के प्रत्येक गांव में शिविर लगाने का निर्देश दी। उन्होंने श्रमिकों को संबोधित करते हुए कहा की योजना का लाभ उठाना हर श्रमिक का अधिकार है। उन्होंने श्रमिकों को बताया कि इस योजना के अंतर्गत कई योजनाओं का लाभ मिलेगा।
सरकार द्वारा श्रमिकों के लिए आकर्षक योजनाएं हैं। मेधावी पुत्र एवं पुत्री छात्रवृत्ति योजना के तहत श्रमिकों के बच्चों को 5,000 रुपए से लेकर 50,000 रूपए तक के वार्षिक छात्रवृत्ति का लाभ प्राप्त होगा। मातृत्व प्रसव सुविधा योजना के तहत प्रथम को दो प्रस्तुतियों के लिए 15000 रुपए का भुगतान का प्रावधान है। चिकित्सा सहायता योजना के तहत 5 से अधिक कार्य दिवसों तक अस्पताल में भर्ती रहने पर अधिकतम 40 कार्य दिवस के लिए अकुशल श्रेणी को देय न्यूनतम मजदूरी का भुगतान मिलेगा। चिकित्सा प्रतिपूर्ति योजनान्तर्गत लाभुकों को गंभीर बीमारी से पीड़ित होने पर ढाई लाख रुपए तक चिकित्सा व्यय की प्रतिपूर्ति है। निर्माण श्रमिक सेफ्टी किट योजनान्तर्गत सेफ्टी किट क्रय हेतु 1000 रुपए राशि भुगतान का प्रावधान है। श्रमिक औजार सहायता योजना के अंतर्गत सभी ट्रेड के औजार किट क्रय के लिए 2500 रुपए राशि भुगतान का प्रावधान है। साइकिल सहायता योजना के अंतर्गत 18 से 45 वर्ष के आयु वर्ग की महिला लाभुकों एवं पुरुष लाभुकों को साईकिल क्रय हेतु 3500 रुपए राशि भुगतान का प्रावधान है। विवाह सहायता योजना के अंतर्गत 5 वर्षों तक लगातार सदस्य रहने पर दो संतानों के विवाह एवं महिला सदस्य के विवाह के लिए 30,000 राशि के सहायता का प्रावधान है। झारखंड निर्माण कर्मकार मृत्यु, दुर्घटना सहायता योजनान्तर्गत एक लाख से पांच लाख के भुगतान का प्रावधान है। प्रधानमंत्री जीवन सुरक्षा बीमा योजना से 18 से 59 वर्ष के लाभुक का एलआईसी के माध्यम से अच्छादन का प्रावधान है। प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना से 18 से 50 वर्ष के लाभुक का एलआईसी के माध्यम से अच्छादन का प्रावधान है। अंत्येष्टि सहायता योजना में लाभुक की मृत्यु होने पर अंतिम संस्कार हेतु आश्रित को 10, 000 रुपए के राशि का भुगतान किया जाएगा। पेंशन योजना के तहत 3 वर्षों तक लगातार अंशदान करने एवं 60 वर्षों की आयु पूर्ण होने पर न्यूनतम 1000 रुपए राशि प्रतिमाह पेंशन का लाभ मिलेगा। पारिवारिक पेंशन योजना के तहत पेंशनभोगी की मृत्यु होने पर उनके पति या पत्नी को पेंशन का 50 फीसदी या अधिकतम 500 प्रतिमाह पेंशन का भुगतान होगा। अनाथ पेंशन योजना के तहत लाभुक के मृत्यु होने पर 18 वर्ष से कम उम्र के बच्चों के मध्य पारिवारिक पेंशन के दर से देय राशि समान रूप से वितरित होगा।

समाज कल्याण मंत्री डॉ लुईस मरांडी ने कहा कि सरकार द्वारा श्रमिकों के लिए कल्याणकारी योजनाएं चलाई गई है। इसका हर एक श्रमिक को लाभ मिलना चाहिए। श्रम अधीक्षक शैलेंद्र कुमार साह को निर्देश देते हुए डॉ लुइस मरांडी ने कहा की इस योजना का लाभ हर एक श्रमिक को प्राप्त होना चाहिए। इसके लिए श्रमिकों को जागरूक अति आवश्यक है। उन्होंने प्रखंड के बीडीओ से संपर्क करके हर एक पंचायत में शिविर लगाने का निर्देश दी। इस अवसर पर डीटीओ विनय मनीष लकड़ा, भाजपा जिला अध्यक्ष निवास मंडल आदि उपस्थित थे।

Niraj Singh

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

आंगनबाड़ी सेविका के खिलाफ पुलिसिया बर्बरता को लेकर झामुमों ने किया पुतला दहन

Wed Sep 25 , 2019
आंगनबाड़ी सेविका के खिलाफ पुलिसिया बर्बरता को लेकर झामुमों ने किया पुतला दहन दोषी पुलिस […]

You May Like