प्रकृति संरक्षण व संवर्धन का पर्व है सोहराय:सांसद

कुमार रवि त्रिवेदी
पाकुड़, 09जनवरी। प्रकृति संरक्षण एवं संवर्धन के साथ ही भाई बहन के प्यार का पर्व है सोहराय।सोहराय संथाल आदिवासी समाज का सबसे बड़ा पर्व है।ये बातें शनिवार को स्थानीय के के एम काॅलेज के विद्यार्थियों द्वारा आयोजित सोहराय पर्व के मौके पर राजमहल सांसद विजय कुमार हांसदा ने कहीं।मौके पर बोरियो के झामुमो विधायक लोबिन हेम्बरम, पार्टी के पाकुड़ जिलाध्यक्ष श्याम यादव आदि के अलावा बड़ी संख्या में छात्र छात्राएँ मौजूद थीं। सांसद श्री हांसदा ने इसकी विधिवत शुरुआत की। पूजा अर्चना के साथ पारंपरिक अनुष्ठान शुरू हुआ।पूजा स्थल पर गोट टंडी बनाया गया था जहाँ सबसे पहले विधिवित पूजा अर्चना की गई। परंपरा के मुताबिक मौके पर चूजे की बलि दी गई।छात्र-छात्राओं ने पारंपरिक वेशभूषा में मांदर के थाप पर जमकर नृत्य किया।मौके पर सांसद व विधायक भी मांदर बजाते हुए छात्र छात्राओं के साथ जमकर झूमे।उल्लेखनीय है कि सोहराय पर्व मुख्यत: धन कटनी के बाद मनाया जाता है। यह पर्व खासकर भाई बहन के पवित्र रिश्ते का प्रतीक भी है।इस दौरान परंपरागत तौर पर भाई बहन को ससुराल से विदा कराकर लाता है।फिर दोनों मिलकर प्रकृति की पूजा करते हैं।इस दौरान कृषि कार्य में उपयोग होने वाले बैल सहित सभी उपकरणों की भी पूजा की जाती है। मौके पर नायकी बाबा लाल मरांडी, राणा हेम्ब्रम, सुनील मुरमू, कोमल मुर्मू साइमन मुर्मू, बिहारी हांसदा एवं कॉलेज के शिक्षक आदि भी मौजूद थे।

admin

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

असमाजिक तत्वों ने तीन दुकान में आग लगा, डेढ़ लाख का नुकसान

Sat Jan 9 , 2021
दुमका, 09जनवरी। नगर थाना क्षेत्र के पोखरा चौक के समीप तीन गुंटी में असमाजिक तत्वों […]

You May Like