दुष्कर्म व हत्या से आक्रोशित लोगों ने मुख्यमंत्री के काफिला पर किया हमला

सीएम के काफिले के पायलट वाहन पर पथराव में ट्रैफिक इंस्पेक्टर घायल, अस्पताल में भर्ती

रांची, 04 जनवरी । ओरमांझी में एक युवती का सिर कटा शव बरामद होने के बाद युवती के साथ दुष्कर्म और फिर उसकी हत्या की आशंका के चलते आक्रोशित लोगों ने किशोरगंज चौक के पास जमकर हंगामा किया। आक्रोशित भीड़ ने मुख्यमंत्री के काफिले पर हमला किया। पथराव से दूसरे प्राइवेट वाहन का शीशा टूट गया। पथराव में ट्रैफिक इंस्पेक्टर घायल हुए हैं। उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
तैनात पुलिसकर्मियों ने अपनी जान पर खेलकर मुख्यमंत्री के काफिले को सुरक्षित निकाला। इसमें कई अन्य पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं। बताया गया कि प्रोजेक्ट भवन से मुख्यमंत्री सोरेन के निकलने के पहले उनका रूट क्लियर कराने के लिए पेट्रोलिंग गाड़ी कांके रोड स्थित सीएम आवास की ओर से जा रही थी। तभी युवती के शव मिलने से नाराज लोग प्रदर्शन कर किशोरगंज चौक पर अचानक रोड पर आ गए और मुख्यमंत्री के काफिले में शामिल पायलट गाड़ी को रोककर उस पर पथराव कर दिया। इस हमले में ट्रैफिक इंस्पेक्टर नवल किशोर प्रसाद घायल हो गये हैं। उन्हें इलाज के लिए मेडिका हॉस्पिटल में दाखिल कराया गया है। इसके अलावा अन्य पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं।

प्रदर्शनकारियों ने पीछे आ रहीं सीएम के काफिले की अन्य गाड़ियाें को भी रोक दिया। इसकी जानकारी मिलते ही सीएम सिक्योरिटी का दस्ता अलर्ट हो गया और प्रोजेक्ट भवन से आवास लौट रहे सीएम हेमंत सोरेन की गाड़ी का रूट डायवर्ट कर उन्हें सेवा सदन अपर बाजार के रास्ते से सुरक्षित आवास ले जाया गया। बताया गया कि प्रदर्शनकारी पहले मुख्य सड़क को जोड़ने वाली बाईलेन पर जमा थे। उन्हें जानकारी थी कि शाम को सीएम का काफिला प्रोजेक्ट भवन से निकलकर आवास की ओर जाता है। जैसे उन्हें पायलट की गाड़ी की आवाज सुनाई पड़ी, प्रदर्शनकारी अचानक सड़क पर आ गए और पायलट वाहन को रोक कर क्षतिग्रस्त कर दिया। इस दौरान किशोरगंज चौक पर मौजूद ट्रैफिक पुलिसकर्मियों ने किसी तरह स्थिति को संभालने का प्रयास किया। प्रदर्शनकारियों के हंगामे की वजह से किशोरगंज चौक पर लगभग 40 मिनट तक अफरातफरी मची रही। पुलिस बल और ट्रैफिक पुलिस ने बड़ी मुश्किल से प्रदर्शनकारियों को सड़क से हटा कर आवागमन सुचारू कराया।एसएसपी सुरेंद्र कुमार झा ने बताया कि पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है। मामले में प्रदर्शनकारियों के खिलाफ एफआईआर करने की प्रक्रिया चल रही हैं।

घटना की सूचना मिलते ही उपायुक्त छवि रंजन, डीआईजी अखिलेश झा, एसएसपी सुरेंद्र झा, ट्रैफिक एसपी अजीत पीटर डुंगडुंग सहित कई थानों की पुलिस मौके पर पहुंची। आक्रोशित लोगों को वहां से हटाया। इसके बाद आवागमन सुचारू रूप से शुरू हुआ।दरअसल तीन जनवरी को रांची के ओरमांझी थाना क्षेत्र के परसा पतरा जंगल से पुलिस ने एक सिर कटा अज्ञात युवती का नग्न शव बरामद किया था। युवती से दुष्कर्म के बाद उसकी गर्दन काट कर हत्या कर दी गई हैं। युवती का सिर पुलिस अभी तलाश कर रही है। इसे लेकर लोगों भारी आक्रोश व्याप्त है।

admin

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

मुख्यमंत्री के काफिले पर हमला करने वालों पर होगी कार्रवाई: डीजीपी

Tue Jan 5 , 2021
प्रदर्शनकारियों को उकसाने वाले वरिष्ठ नेताओं से भी होगी पूछताछ रांची, 05 जनवरी। झारखंड के […]

You May Like