3 दिनों से लापता बालक पश्चिम बंगाल के कटुवा से बरामद

परिजनों की पिटाई के भय से हो गया था फरार

दुमका, 05 जनवरी। 3 दिनों से लापता दो बालकों को पश्चिम बंगाल के कटुवा से दुमका की पुलिस ने बरामद कर अपने साथ दुमका ले आई है। दोनों बालक वासिद अंसारी (11)एवं मो.सामू (9) दुमका शहर के कुम्हारपाड़ा शिवसुंदरी रोड के निवासी है। मंगलवार को दुमका के पुलिस अधीक्षक अम्बर लकड़ा ने नगर थाना परिसर में पत्रकारों के साथ बातचीत में बताया कि शहर से दो बालक लापता हो गए थे। इस मामले में परिजनों ने थाना में सनहा दर्ज कराई थी। थाना में दोनों के अपहरण करने की प्राथमिकी दर्ज की गई थी। एसपी ने बताया कि दोनों बालकों की बरामदगी के लिए एसडीपीओ मो.नूर मुस्ताफा एवं नगर थाना प्रभारी देवव्रत पोद्दार के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया। एसपी ने बताया कि छानबीन के दौरान पता चला कि दोनों बालकों का अपहरण नहीं किया गया है,बल्कि परिजनों की पिटाई के भय से फरार हो गया है। उन्होंने बताया कि अनुसंधान के दौरान पता चला कि दोनों बालकों को परिजनों ने सिगरेट पीते हुए देख लिया था। जिससे बच्चे पिटाई के डर से दुमका रेलवे स्टेशन चले गए और रामपुरहाट की ट्रेन में सवार हो गए। ट्रेन से दोनों बालक रामपुरहाट पहुंच गए। रामपुरहाट के बाद दोनों अजीमगढ़ चले गए। अजीमगढ़ में दोनों बालक अलग-अलग ट्रेन की बोगी में सवार हो गए। पश्चिम बंगाल के कटुवा के पास जीआरपी के जवान ने दोनों बालकों को पकड़ लिया। दोनों को कटुवा के जनकल्याण समिति को सौंप दिया गया। कटुवा जन कल्याण समिति के सदस्यों ने दुमका के नगर थाना की पुलिस से सम्पर्क किया। दोनों बालकों को कटुवा से लाने के लिए अनुसंधानकर्ता पुलिस अवर निरीक्षक सुगना मुंडा एवं पुलिस अवर निरीक्षक निरंजन महतो,स्थानीय बाल कल्याण समिति के सदस्यों व बच्चों के अभिभावकों को लेकर पश्चिम बंगाल के कटुवा के लिए सोमवार को ही रवाना हो गए। दोनों को न्यायालय में प्रस्तुत कर दुमका लाया गया। दुमका के सीडब्ल्यूसी के समक्ष दोनों को प्रस्तुत किया गया। इसके बाद दोनों बालकों को उसके परिजनों को सौंप दिया गया।

admin

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

निर्दयता की हद को लांघती मनोविकारी प्रवृत्तियां:डॉ विनोद शर्मा

Tue Jan 5 , 2021
डॉ विनोद कुमार शर्मा असिस्टेंट प्रोफेसर निदेशक मानसिक स्वास्थ्य परामर्श केंद्र, मनोविज्ञान विभाग, सिकामु विवि, […]

You May Like