हेमंत सरकार में संताल परगना की बेटियां सुरक्षित नहीं, नैतिकता के नाते दे इस्तीफाः मिस्फीका हसन

दुमका, 16 अक्टूबर। भारतीय जनता पार्टी प्रदेश प्रवक्ता मिस्फीका हसन ने संथाल परगना में बेटियों की हो रहे आये दिन दुष्कर्म व हत्या की निंदा की है। उन्होंने कहा कि ऐसी घटनाएं समाज को झकझोर कर रख दिया है है। साहिबगंज की घटना के तुरंत बाद दुमका में सामूहिक दुष्कर्म के बाद पांचवीं की छात्रा की हत्या दर्शाती है कि संताल परगना में बेटियां सुरक्षित नहीं है। ऐसा लगता है संथाल परगना लड़कियो के लिए काल बन गया है। मिस्फीका ने कहा कि झारखंड में आए दिन दुष्कर्म की घटनाएं घट रही हैं। साहिबगंज और दुमका की घटना के बाद पूरे राज्य में आम लोगों में जबरदस्त आक्रोश है। हेमंत सोरेन की सरकार जब से बनी है। बलात्कार की घटनाएं में तेजी से वृद्धि हुई है। राज्य की बहन-बेटियां अपने आप को असुरक्षित महसूस कर रही है। अभिभावक अपनी बच्चियों को अकेली बाहर निकलने से डर रहे है। राज्य की बेटिया न्याय के लिए चीख रही है और उनकी चित्कार सुनने वाला कोई नही है। राज्य मे अपराधियो का मनोबल पूरा बढा हुआ है। ऐसा लगता है संथाल परगना लड़कियो के लिए काल बन गया है। अगर राज्य की बेटियो की आबरू की सुरक्षा नहीं कर सकते हेमंत सरकार, तो नैतिकता के आधार पर सरकार से इस्तिफा दे देना चाहिए। उन्होंने बताया कि भाजपा का प्रदेश प्रतिनिधिमंडल दुमका एवं बरहेट में नाबालिग से दुष्कर्म और हत्या पर पीड़ित परिवार से मुलाकात करेगी। घटना को लेकर भाजपा का प्रतिनिधिमंडल शनिवार को को दोनो मृतक के परिजनों से मुलाकात करेगे। प्रतिनिधिमंडल में भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा राष्ट्रीय अध्यक्ष सह सांसद समीर उरांव, सांसद सुनील सोरेन, पूर्व मंत्री हेमलाल मुर्मू, पूर्व आईपीएस अरुण उरांव, पूर्व विधायक रामकुमार पाहन, प्रदेश सह मीडिया प्रभारी अशोक बड़ाईक, साहिबगंज जिप अध्यक्ष रेणुका मुर्मू, प्रदेश प्रवक्ता मिस्फीका हसन, पाकुड़ जिला परिषद अध्यक्ष बाबुधन मुर्मू शामिल है।

admin

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

जमीन विवाद में चाचा को भाला फेक मारा, इलाज के दौरान मौत

Fri Oct 16 , 2020
दुमका, 16 अक्टूबर। भतीजा ने भाला से मारकर चाचा को मौत के घाट उतार दिया। […]

You May Like