झारखंड सरकार आंख बंद कर नहीं, आंख खोल कर कार्य करेगीः सीएम हेमंत सोरेन

अगर रोजगार नहीं मिलता है, तो लेबर कार्ड वाले को मिलेगा बेरोजगारी भत्ता

दुमका, 15 सितंबर। धोबना हरिणबहाल, मसलिया, फुटबॉल मैदान में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की उपस्थिति में सरकार आपके द्वार कार्यक्रम का आयोजन मंगलवार को हुआ। इस अवसर पर लोगो को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार गरीबों के तकलीफ को समझती है। कोरोना महामारी ने राज्य के समक्ष कई चुनौतियां खड़ी की थी, लेकिन सरकार इस महामारी से डट का मुकाबला कर रही है। इसी वजह से आज इस राज्य की चर्चा चारों ओर हो रही है। गरीबों, मजदूरों, किसानों के हालचाल को जानने एवं उन तक सहायता पहुचाने के लिए इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया।
राज्य सरकार आंख बंद कर नहीं, आंख खोल कर कार्य करेगी
सीएम हेमंत सोरेन ने कहा कि अब एक भी योग्य लाभुक योजनाओं से वंचित नहीं रहेगा। सभी योग्य लाभुकों को पेंशन योजना से जोड़ा जाएगा। राज्य सरकार आंख बंद कर नहीं,आंख खोल कर कार्य करेगी। जो वाजिब हक गरीबों मजदूरों का है, वह उन्हें हर हाल में मिलेगा। उन्होंने कहा कि सरकार बनते ही कोरोना महामारी के दौरान मजदूरों को रोजगार के दिशा में किए गए प्रयासों को दोहराया। उन्होंने कहा कि सरकार ने हवाई चप्पल पहन ने वाले लोगों को हवाई जहाज एवं ट्रेन के माध्यम से उनके घर तक पहुंचाया। मजदूरों को रजिस्ट्रेशन कर ट्रेन के माध्यम से ही लेह लद्दाख कार्य करने के लिए भेजा। उन्होंने कहा कि जो भी मजदूर अन्य राज्यों में कार्य करने के लिए जाते हैं। वे लेबर डिपार्टमेंट ऑफिस जाकर अपना निबंधन अवश्य कराये। जिससे भविष्य में भी अगर किसी प्रकार की कोई महामारी आती हो तो सरकार मदद कर सके और आपको आपके घर तक ले सके। उन्होंने कहा कि यहां के लोगों को बाहर रोजगार के लिए नहीं जाना पड़े। गांव-शहर के आसपास लोगों को रोजगार मिल सके इसके लिए सरकार प्रयासरत है। सरकार ने मनरेगा के 3 तहत की योजना भी शुरू की है। सीएम ने कहा कि इस बार जो मानव दिवस सृजित किये हैं। वो अपने आप मे रिकॉर्ड है। कहा कि जल्द ही मुख्यमंत्री शहरी श्रमिक योजना के तहत शहर के लोगों को शहर में रोजगार की गारंटी मिलेगा। अगर रोजगार नहीं मिलता है और उक्त व्यक्ति के पास कार्ड उपलब्ध होगा, तो उन्हें बेरोजगारी भत्ता मिलेगा। सरकार ने बहुत लंबी कार्य योजना तैयार रखी है। जल्द ही आमजनों तक योजनाओं का लाभ मिलेगा। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान गांव-गांव में दीदी किचन चला लोगों के भूख मिटाने का प्रयास किया। गौरव की बात है कि संक्रमण के दौरान एक भी गरीब मजदूर की मौत नहीं हुई है। समस्या बहुत है और सभी समस्याओं की जानकारी सरकार के पास है। निश्चिंत रहें जल्द ही सभी समस्याएं दूर होंगी। इस अवसर पर मुख्यमंत्री द्वारा विभिन्न विभागों के परिसंपत्तियों का वितरण किया गया। प्रधानी पट्टा, मुख्यमंत्री सुकन्या योजना, श्रवण यंत्र, प्रधानमंत्री आवास योजना, बिरसा हरित ग्राम योजना के तहत पशु सेड,पेंशन योजना के तहत पेंशन, जिला कृषि कार्यालय के तहत सॉइल हेल्थ कार्ड, केसीसी योजना के तहत लाभ, शिक्षा विभाग द्वारा स्कूल किट मनरेगा के तहत सिंचाई कूप लाभुकों के बीच वितरित किया गया।
मुख्यमंत्री ने 81 सखी मंडल के दीदियों को 81 लाख रुपए का चेक दिया गया। दूरस्थ क्षेत्रों के लोगों को अस्पताल तक पहुंचाने के लिए स्थानीय मुखिया को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने बाइक एंबुलेंस की चाबी सौंपी। इस अवसर पर इस अवसर पर डीसी राजेश्वरी बी, विधायक स्टीफन मरांडी, जेसीएम छात्र मोर्चा केंद्रीय अध्यक्ष बसंत सोरेन सहित अन्य उपस्थित थे।

admin

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

सूबे में व्याप्त गरीबी को लेकर सरकार चिंतित, हर मुसीबत में सरकार आपके साथ है खड़ीः सीएम हेमंत सोरेन

Tue Sep 15 , 2020
सरकार आपके द्वारा कार्यक्रम में सीएम ने लाभुकों के बीच किया परिसंपति का वितरण दुमका, […]

You May Like