झारखंड का समग्र विकास एवं खुशहाली, हमारी पहली प्राथमिकताः सीएम हेंमंत सोरेन

उपराजधानी के प्रबुद्ध लोगों के साथ सीएम हेमंत सोरेन ने की बैठक

दुमका, 14 सितंबर। मैं मुख्यमंत्री के रूप में आपके समक्ष खड़ा जरूर हूं लेकिन आप अपनी बातें खुले मन से मेरे समक्ष रख सकते हैं। मुझे आप सभी अपना समझें। आप सभी के कारण ही मुझे झारखंड राज्य का नेतृत्व करने का जिम्मा मिला है। मेरे लिए राज्य का समग्र विकास सबसे महत्वपूर्ण है। राज्य के लोग खुशहाल रहे, यह हमारी प्राथमिकता है। उक्त बातें मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने राजभवन में प्रबुद्ध नागरिकों को संबोधित करते हुए कही।उन्होंने कहा कि सरकार बनते ही कोरोना महामारी ने राज्य को घेर लिया था। फिर भी इस संक्रमण में हमारे सरकारी तंत्रों ने सीमित संसाधनों में डटकर मुकाबला किया और यह पूरे देश में एक मिसाल है। सरकार बनने के 6 महीने के अंदर ही राज्य में 3 कोरोना टेस्टिंग लैब बनाया गया। जिसमें एक टेस्टिंग लैब दुमका में भी बनाया गया है। अब यहां के लोगों की कोरोना जांच आपके शहर दुमका में ही हो जांच के लिए रांची या कोलकाता भेजने की जरूरत नहीं है। सरकार की दृढ़ इक्षा, सरकार की सोच और नियत अगर सही हो तो कोई भी कार्य असंभव नहीं है। समस्याएं बहुत हैं लेकिन मैं विश्वास दिलाता हूं, लोगों की हर समस्याओं को जल्द से जल्द दूर करने का प्रयास करूंगा।झारखंड मजदूर प्रधान राज्य है। देश की अर्थव्यवस्था का चक्का घुमाने का कार्य हमारे मजदूर करते हैं। झारखंड,बिहार,यूपी,उड़ीसा,बंगाल के मजदूरों को जिस प्रकार कोरोना काल व्यवस्था ने उपेक्षित किया वो किसी से छुपा नहीं है। जिन मजदूरों को कोरोना काल में उपेक्षित किया गया,आज उन्हीं मजदूरों को हवाई टिकट उपलब्ध करा कर ले जाया जा रहा है। जिस वक्त इन मजदूरों को दुतकारा जा रहा था उसी वक्त झारखंड सरकार इन मजदूरों को हवाई जहाज के माध्यम से अपने घर पहुंचाने का कार्य कर रही थी।
उन्होंने कहा कि त्रिपुरा सरकार ने भारत सरकार को पत्र लिखकर मजदूरों की मांग की है।भारत सरकार ने इसके लिए झारखंड राज्य को चुना है। संक्रमण के दौरान राज्य सरकार ने 3 योजनाएं प्रारंभ की ताकि प्रवासी मजदूरों को यहां रोजगार मिल सके। सरकार यहां के लोगों को अपने राज्य में ही रोजगार उपलब्ध कराने के लिए तेजी से कार्य कर रही है। शहरी क्षेत्रों में भी रोजगार उपलब्ध कराने की तैयारी की जा रही है साथ ही रोजगार नहीं मिलने की स्थिति में उन्हें बेरोजगारी भत्ता देने की भी व्यवस्था की जा रही है। आज जिस तरह की देश की अर्थव्यवस्था गिरी पड़ी है।जिस प्रकार से लोगों की नौकरियां जा रही है।यह बहुत चिंताजनक हैं।
सरकार राज्य तथा राज्य के हर नागरिक को अपने पैरों पर खड़ा करने की दिशा में कार्य कर रहा है।राज्य अलग होने के बाद से विगत वर्षों में झ के विकास की दिशा क्या होगी इसके लिए कभी भी ब्लू प्रिंट तैयार नहीं किया गया। नया सवेरा झारखंड राज्य के लोग देखें,इसी सोच के साथ सरकार आगे बढ़ रही है।इसी के तहत पहला कदम सरकार ने इस राज्य का मुकुट (प्रतीक चिन्ह) को नए सिरे से बनाने का कार्य किया।अर्थव्यवस्था के क्षेत्र में सरकार बहुत तेजी से आगे बढ़ रही है। चिंता नहीं करें सभी समस्याएं दूर होंगी। बेहतर प्रबंधन के साथ राज्य सरकार विकास के पथ पर आगे बढ़ेगी।
कोई भी कोरोना मरीज की मृत्यु ऑक्सीजन के अभाव में नहीं हो इसके लिए हर पंचायत में ऑक्सी मीटर और सिलेंडर की व्यवस्था करने का निर्देश दिया गया है।
सरकार बोलने में कम और कार्य करने पर ज्यादा विश्वास रखती है। सरकार ने कार्ययोजना तैयार रखी है,समय के साथ-साथ उन्हें भी धरातल पर उतारा जाएगा। लोगों को सरकार का कार्य धरातल पर दिखाई देगा। इस अवसर पर पार्टी महासचिव विजय कुमार सिंह, दुमका विधानसभा चुनाव के भावी प्रत्याशी सीएम हेमंत सोरेन के छोटे भाई बसंत सोरेन आदि उपस्थित थे।

admin

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

महाराष्ट्र के बाद झारखंड में भी पत्रकार असुरक्षित, दुमका राजभवन में हुई बदसलूकी

Mon Sep 14 , 2020
दुमका, 14 सितंबर। महाराष्ट्र के बाद झारखंड में भी पत्रकार सुरक्षित महसूस नहीं कर रहे […]

You May Like