जमीनी विवाद को लेकर एक युवक को गोली मारकर कि हत्या, छानबीन में जुटी पुलिस

जमीनी विवाद को लेकर एक युवक को गोली मारकर कि हत्या, छानबीन में जुटी पुलिस

साहिबगंज। जिले के नागर थाना क्षेत्र के तलबन्ना निवासी 30 वर्षीय मनीष यादव शनिवार की देर रात्रि जमीनी विवाद में लाठियों व लोहे का रॉड से पीट-पीटकर एवं गोली मारकर हत्या कर दी गई। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर अस्पताल में पोस्टमार्टम कराया। प्राप्त जनकारी अनुसार शनिवार देर शाम मनीष यादव अपने निवास स्थान तलबन्ना से महादेवगंज जा रहे थे तभी रास्ते में अचानक महादेवगंज के 6 से 7 युवक आए और उसे जबरन देशी कट्टा सटा कर उसे मुफस्सिल थाना क्षेत्र के महादेवगंज गंगोटाटोला ले गया, वहां उसे बुरी तरह से लाठी-डंटा व लोहे का रॉड से पिटाई किया फिर उसे उठा कर जिरवाबाडी ओपी क्षेत्र के अंबाडीहा गांव स्थित अवध यादव के घर लेकर गया और वहां भी इनकी जमकर पिटाई किया। उतने मे किसी ने उनके परिजनों को बताया कि मनीष को उठा कर अवध यादव के घर लेकर चला गया जिसके बाद उनके परिजनो ने जिरवाबाडी एवं मुफस्सिल थाना पुलिस को घटना की सुचना दिया तभी परिजन पुलिस के सहयोग से अवध यादव के घर पहुंचे इधय पुलिस आने की सूचना मिलते ही आरोपी अवध यादव के घर पर मनीष को गोली मार कर फरार हो गया जिसके बाद परिजन व पुलिस के सहयोग से घायल मनीष यादव को इलाज के लिए सदर अस्पताल लाया जहां डॉक्टरों दिवेश कुमार ने घायल मनीष यादव का प्राथिमक उपचार किया, घायल मनीष का स्थिति बिगडते देख उसे बेहतर इलाज के लिए डॉक्टरों ने उसे धनबाद रेफर कर दिया। अस्पताल में प्राथमिक उपचार कराते रात के 11 बज चुके थे। तभी उसके बाद परिजनों ने घायल मनीष यादव को लेकर 108 एंबुलेंस से जा रहे थे कि अचानक दुमका काठीकुंड के समीप रात्रि करीब 3 बजे मनीष यादव ने अपना दम तोड दिया। जिसके बाद परिजनों ने काठीकुंड से वापस उसे लेकर सदर अस्पताल साहेबगंज लाया। इधर मृत की सुचना मिलते ही सदर एसडीपीओ राजा कुमार मित्रा, सदर इंस्पेक्टर धर्मपाल कुमार, नगर थाना प्रभारी त्रियुगीनारायण झा, जिरवाबाडी ओपी थाना प्रभारी विनोद कुमार दल बद के अस्पताल पहुंच कर शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम कर शव को परिजनों को सौप दिया। वहीं मृतक मनीष यादव के भाई अमित यादव ने बताया की मेरा भाई मनीष यादव मरने से पूर्व पुलिस के समक्ष अपना बयान दिया है जिसमें उसने बताया है महादेवगंज में हम सभी का साढे सात कठा पुश्तैनी जमीन था। उसी में हम सभी लोगों से अवध यादव, बालकर्ण यादव, पंकज यादव, दीनानाथ यादव, अंगत यादव, धनंजय यादव, राम श्लोक यादव, धनंजय यादव के साथ जमीनी विवाद चल रहा था। मामला साहेबगंज अनुमंडल कोट में भी चला जिसमे मनीष यादव कि जित भी हुई और मुफस्सिल थाना को पुश्तैनी जमीन का घेरा बंदी कराने का आदेश भी दिया था। परंतु जब मेरा भाई मनीष यादव उस जमीन मे अढाई कठा जमीन बेचा था जिसमें कुल पांच कठा जमीन बचा हुआ था। उसी पाच कठा जमीन कि घेरा बंदी करने में उनलोगों ने मिलकर मेरा भाई का जान ले लिया। इधर मृत मनीष यादव के घायल अवस्था में लिए गए बयान पर जिरवाबाडी ओपी पुलिस ने अवध यादव, बालकर्ण यादव, पंकज यादव, दीनानाथ यादव, अंगत यादव, धनंजय यादव, राम श्लोक यादव, धनंजय यादव पर जिरवाबाड़ी ओपी में प्राथिमिकी दर्ज कर पुलिस आरोपियों की गिरफ्तारी के प्रयास में जुट गई है। पुलिस के द्वारा बीती रात्रि नामजद आरोपी बालकरण यादव को देसी कट्टा के साथ गिरफ्तार कर लिया है। वहीं मृत मनीष यादव अपने पिछे अपनी माता मीना देवी, पत्नी रिंकू देवी जो 6 से 7 माह का गर्भवती है। व दो बेटी बडी बेटी रिया कुमारी 5 वर्ष व छोटी बेटी पलक कुमारी दो वर्षा को छोड कर चले गए। मनीष की मौत की खबर सुन कर पत्नी व बुढी मां व बहन सहित परिजनों का रो रो कर बुरा हाल है।

क्या कहते है सदर एसडीपीओ

सदर एसडीपीओ राजा कुमार मित्रा ने बताया कि पुलिस ने की त्वरित कार्रवाई करते हुए आरोपी अवध यादव की पुत्र बालकर्ण यादव को गिरफ्तार कर पूछताछ कर रहा है। साथ ही उन्होंने बताया कि बालकर्ण यादव के पास से पुलिस ने एक देसी कट्टा भी बरामद की है। फिलहाल पुलिस मामले की छानबीन कर रही है और फरार अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए प्रयास शुरू कर दिए हैं, जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

admin

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

कोरोना योद्धाओं को मिला प्रशस्ति पत्र

Sun May 31 , 2020
कोरोना योद्धाओं को मिला प्रशस्ति पत्र कुमार रवि त्रिवेदी पाकुड़, 31मई।अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के […]

You May Like