सफलता हासिल करने के लिए कठिनाई का सामना करना पड़ता हैः डीसी

सफलता हासिल करने के लिए कठिनाई का सामना करना पड़ता हैः डीसी

अंतर्राष्ट्रीय दिव्यांग दिवस के अवसर पर प्रतियोगिता में विजेता दिव्यांग हुए सम्मानित

दुमका। अंतर्राष्ट्रीय दिव्यांग दिवस के अवसर पर स्वीप के तहत एग्रो पार्क आत्मा भवन, दुमका में मंगलवार को कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस अवसर पर जिला निर्वाचन पदाधिकारी राजेश्वरी बी ने सभी को अंतर्राष्ट्रीय दिव्यांग दिवस की शुभकामनाएं देते हुए स्वीप के तहत दिव्यांगजनों के लिए आयोजित कई कार्यक्रम की जानकारी दी। जिससे अपने अधिकारों को समझ सकें और लोकतंत्र के महात्योहार में अपनी भागीदारी अवश्य सुनिश्चित करने की अपील की। उन्होंने कहा कि पिछले लोकसभा में दिव्यांगजनों का मतदान प्रतिशत अच्छा रहा है। अपने पूरे राज्य के समक्ष एक बेहतर उदाहरण प्रस्तुत किया है। उन्होंने विधानसभा चुनाव में भी सभी दिव्यांगजन मताधिकार प्रयोग करने का अपील किया। मतदान केंद्र पर दिव्यांगजनों के लिए वाहन एवं व्हीलचेयर की व्यवस्था की गई है। आप अपने मतदान केंद्र पर जाकर अवश्य वोट करें। उन्होंने कहा कि आप हमारे लिए प्रेरणा के स्त्रोत हैं। सभी को सफलता हासिल करने के लिए कठिनाई का सामना करना पड़ता है। लेकिन आप में आम लोगों से कई ज्यादा आत्मविश्वास है। आपने यह साबित कर दिखाया है कि आप किसी से कम नहीं हैं। उन्होंने कहा कि आप अपने आस-पास के लोगों को मतदान के लिए प्रोत्साहित करने को प्रेरित किया। कार्यक्रम में सभी दिव्यांगों से पीडब्ल्यूडी ऐप एवं सी विजिल ऐप डाउनलोड कराने का जानकारी दिया। डीसी ने दिव्यांगजनों के साथ लूडो खेला।
म्यूजिकल चेयर, सांप सीढ़ी एवं कैरम प्रतियोगिता विजेता हुए सम्मानित
सांप सीढ़ी प्रतियोगिता में प्रथम स्थान तारणी राय, द्वितीय स्थान साधेश्वरी देवी, तीसरा स्थान लाली देवी ने हासिल किया। कैरम में प्रथम स्थान नसीम मंडल एवं द्वितीय स्थान पर रामशंकर ठाकुर रहे। म्यूजिकल चेयर में प्रथम स्थान रीना कुमारी, द्वितीय स्थान पर रुपेश कुमार सिंह एवं तीसरा स्थान पर अजित यादव ने जीता। उपायुक्त ने सभी विजेता दिव्यांगजनो को पुरुस्कृत किया। इस अवसर पर स्वीप कोषांग के पदाधिकारी अभिजीत सिन्हा, ज़िला समाज कल्याण पदाधिकारी श्वेता भारती, प्रभारी पदाधिकारी सुधाकर केशरी, स्वीप कोषांग के राजीव रंजन, अमित कुमार, काशीनाथ महतो, प्रवीण कुमार, सरोज कुमार बाजपेयी, बुधोदेव वैध, लक्ष्मी कांत मंडल, सभी बाल विकास परियोजना पदाधिकारी एवं काफी बड़ी संख्या में दिव्यांग उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *