मानसिक एवं शारीरिक विकास में खेल की भूमिका महत्वपूर्ण: विधानसभा अध्यक्ष

मानसिक एवं शारीरिक विकास में खेल की भूमिका अत्यंत ही महत्वपूर्ण: विधानसभा अध्यक्ष

विजेता शतरंज खिलाड़ियों को विधानसभा अध्यक्ष रविन्द्र नाथ महतो ने किया सम्मानित

दुमका। चेस एसोसिएशन द्वारा इंडोर स्टेडियम में आयोजित चार दिवसीय “ऑल इंडिया बिलो 1800 फिडे रेटिंग चेस टूर्नामेंट“ के समापन समारोह में विधानसभा अध्यक्ष रविंद नाथ महतों पहुंच विजेता खिलाड़ियों को मैडल देकर सम्मानित किया। समापन समारोह में अध्यक्ष रविन्द्र नाथ महतो ने खिलाड़ियों को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि खेल हर इंसान के जीवन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। मानसिक विकास एवं शारीरिक विकास में खेल की भूमिका अत्यंत ही महत्वपूर्ण है। शारिरीक एवं मानसिक संतुलन बनाये रखने के लिए खेलकूद हर इंसान के लिए महत्वपूर्ण है। आउटडोर या इंडोर किसी भी तरह के खेल से लोगों को जुड़े रहना चाहिए। खेल कूद से लोगों के व्यक्तित्व में भी निखार आता है। उन्होंने कहा कि मैं यहां आकर बहुत गौर्वान्वित महसूस कर रहा हूं। दुमका जैसे छोटे शहर में विभिन्न राज्यों से खिलाड़ियों ने आकर अपनी प्रतिभा को प्रदर्शित कर रहे हैं। मुझे विश्वास है सभी खिलाड़ी यहां से अच्छे अनुभव लेकर जा रहे होंगे। उम्मीद करता हूं कि आने वाले समय में खेल के क्षेत्र में संथाल परगना और भी अव्वल होगा। उन्होंने कहा कि हमारा राज्य खाद्य एवं खनिजों का खनिज संपदा से संपन्न राज्य है। पहले से ही खेल में भी हमारे राज्य के लोगों को प्रतिनिधित्व करने का मौका मिला है। यहां प्रतिभा की कोई कमी नहीं है। व्यवस्था की थोड़ी कमी है, लेकिन इस पर कार्य किया जाएगा। यहां के खिलाड़ियों को बेहतर व्यवस्था मिले तो राज्य का नाम रोशन करेंगे। कई बार बेहतर व्यवस्था नहीं होने के कारण अच्छे खिलाड़ी अपने प्रदर्शन नहीं दे पाते हैं। हमारा प्रयास है कि आने वाले समय में युवा वर्ग के लिए बेहतर व्यवस्था होगी। पठन-पाठन के साथ-साथ खेलकूद में भी ध्यान दिया जाएगा। प्रयास है कि संथाल परगना की इस धरती में खेल का बेहतर माहौल बने। यहां से अच्छे-अच्छे खिलाड़ियों ने देश के मानचित्र में अपना नाम अंकित किया है और आगे भी करेंगे। डीडीसी शेखर जमुआर ने उपस्थित सभी अतिथियों एवं खिलाड़ियों को संबोधित करते हुए कहा कि यहां के लोगों के सहयोग से ही दुमका जैसे छोटे शहर में इतने बड़े टूर्नामेंट का सफलतापूर्वक आयोजन हो पाया है। यहां के खिलाड़ी बड़ी ही गंभीरता एवं डेडीकेशन के साथ अपने खेल को खेलते हैं। इसकी सीख हमें भी अपनी कार्य में लेनी चाहिए। वह दिन दूर नहीं है कि जब यहां के खिलाड़ी 2500 फिडे रेटिंग से चेस खेलेंगे। जिला प्रशासन का प्रयास है कि यहां के खिलाड़ियों को बेहतर सुविधा एवं व्यवस्था दी जाये। जिससे आगे चलकर यह हमारे राज्य एवं देश का नाम रोशन कर सकें।विधानसभा अध्यक्ष रविंद्र महतो ने जिले के फादर ऑफ खो-खो कहे जाने वाले जाने माने पत्रकार, प्रोफेसर शलैंद्र सिन्हा को अवार्ड से सम्मानित किया।  

टूर्नामेंट में कुल 8 राज्यों से आये प्रतिभागियों ने भाग लिया। चेस टूर्नामेंट में धनबाद के रहने वाले इशांत कुमार ने प्रथम स्थान हासिल किया। इन्हें 51 हजार रुपये एवं ट्राफी दी गई। दूसरे स्थान पर बोकारो के रहने वाले अंकित कुमार सिंह को 30 हजार रूपए एवं ट्राफी के साथ सम्मानित किया गया। समाजसेवी ठाकुर श्यामसुंदर सिंह ने भी विजेता खिलाड़ियों को मैडल और प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। आयोजन को सफल बनाने में आयोजन सचिव उमा शंकर चौबे, उपाध्यक्ष विमल भूषण गुहा एवं कुणाल दास राहुल, संयुक्त सचिव वरुण कुमार सहित अन्य की सरहानीय भूमिका रही।

Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

रामगढ़ के लाठी पहाड़ को पर्यटन स्थल के रूप में होगा विकसितः सांसद सुनील सोरेन

Mon Jan 13 , 2020
रामगढ़ के लाठी पहाड़ को पर्यटन स्थल के रूप में होगा विकसितः सांसद सुनील सोरेन दुमका। जिले के रामगढ़ प्रखंड […]