दो दिवसीय फुटबॉल टूर्नामेंट में विजेता टीम बनी वीर बंटा युवा क्लब, जंगला

दो दिवसीय फुटबॉल टूर्नामेंट में विजेता टीम बनी वीर बंटा युवा क्लब, जंगला

दुमका। जिले के रानीश्वर प्रखंड के बागजुड़ी गांव में दो दिवसीय फुटबॉल प्रतियोगिता के फाइनल मैच का उद्घाटन गुरूवार को हुआ। मैच में मुख्य अतिथि झामुमो के केंद्रीय समिति सदस्य व शिकारीपाड़ा विधानसभा क्षेत्र के युवा नेता आलोक कुमार सोरेन ने किया। उन्होंने खिलाड़ियों से मिलकर एवं परिचय प्राप्त कर खिलाड़ियों का हौसला अफजाई किया। खिलाड़ियों को संबोंधित करते हुए आलोक कुमार सोरेन ने कहा कि खेल को खेल के भावना से खेलना चाहिए। हर खेल में हार-जीत होती रहती हैं। खिलाड़ियों को इससे घबराना नहीं चाहिए। झारखंड में फुटबाल मुख्य खेल बनकर उभर रहा हैं। यहां प्रतिभा की कोई कमी नहीं हैं। जो भी प्रतिभावान खिलाड़ी हैं वो जरूर आगे जायेंगे। साथ ही साथ उन्होंने कहा कि वर्तमान भाजपा सरकार सीएनटी और एसपीटी एक्ट कानून को खत्म कर हमारे जमीन को बड़े-बड़े उद्योगपतियों के हाथों बेचने की तैयारी कर रही हैं। जल, जंगल और जमीन से प्रेम करने वाले आदिवासी समाज को आपस में लड़वा कर सभ्यता और संस्कृति को खत्म करना चाह रही है। लोगों को इनसे सावधान रहने का अपील किया हैं। चुनाव नजदीक हैं कुछ वोट कटवा प्रत्याशी आपके पास आयेंगे और आपका बरगलाने की कोशिश करेंगे। वैसे प्रत्याशियों से भी आपको सावधान रहना हैं। फाइनल मैच ओल्ड मोंक गुलामडीह और वीर बंटा युवा क्लब जंगला के बीच खेला गया। आलोक कुमार सोरेन ने विजेता टीम वीर बंटा युवा क्लब जंगला को प्रथम पुरस्कार देकर पुरस्कृत किया एवं झामुमो शिकारीपाड़ा के प्रखंड सचिव प्रभुनाथ हांसदा ने उपविजेता टीम ओल्ड मोंक गुलामडीह को द्वितीय पुरस्कार देकर पुरस्कृत किया। इस मौके पर मुख्य रूप से झामुमो कार्यकर्ता अनिल मरांडी, शंभु मुर्मू, अगस्टीन हेम्ब्रम, पोद्दार हेम्ब्रम, सैलेन किस्कू, राजकिशोर मुर्मू, स्थानीय मुखिया अनिल मरांडी आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *